Domain Name के बारे में हर एक जरूरी बात जानें !!

जब भी आपको किसी के द्वारा किसी वेबसाइट या ब्लॉग के बारे में पता चलता है तो उस वेबसाइट पे जाने के लिए या तो आप Google  या अन्य सर्च इंजन पे जाके उस वेबसाइट के बारे में सर्च करते है या आपको उस वेबसाइट का लिंक दिया जाता है जिसपर क्लिक करके आप उस ब्लॉग या वेबसाइट पर Directly पहुंच जाते हैं | 

आखिर ये जो लिंक है ये क्या है , ये कैसे सीधे वांछित वेबसाइट पे हमे पहुंचा देता है , क्या यही Domain Name है अगर है तो ये कैसे काम करता है , यह कितने प्रकार के होते है , Domain Name रखने का क्या तरीके है ? आज की इस पोस्ट में हम इन्ही सब सवालों के जवाब आपको बहुत ही आसान भाषा में देने वाले है | तो देर न करते हुए जानते है महत्वपूर्ण तथ्य Domain Name के बारे में | 

Domain Name क्या है ? 

Domain Name एक प्रकार का ऐसा नाम है जोकि वेबसाइट के लिए प्रयोग किया जाता है | यह एक Website का Unique Identification नाम होता है यह एक नाम सिर्फ एक ही वेबसाइट के लिए रखा जा सकता है | जैसे किसी वेबसाइट का नाम example.com है तो अब इस नाम से किसी भी वेबसाइट का नाम नहीं रखा जा सकता है |  

Domain Name एक प्रकार का वेबसाइट का Address होता है जिसकी मदद से कोई भी वेबसाइट पर जा सकता है | जैसे आपके घर का पता होता है जिससे कोई भी आपके दिए गए घर के पते के जरिये आपके घर तक बहुत आसानी से आ सकता है|  ठीक इसी तरह Domain भी एक पता है जिसकी मदद से Visitors आपकी ब्लॉग या वेबसाइट पर आसानी से आ जाते हैं | 

लेकिन यहाँ पर एक बात जानना बहुत जरुरी है की जो लिंक दिए जाते हैं जिनकी मदद से हम किसी भी वेबसाइट पर पहुंच सकते है उन्हें URL कहा जाता है अब आपके मन में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा की क्या Domain Name और URL अलग अलग होते हैं ? 

नहीं ! यह एक नहीं होते लेकिन एक दूसरे से जुड़े होते हैं | हम आपको एक उदहारण से समझाते हैं जैसे –

  • आप को अपनी वेबसाइट के लिए एक नाम रखना है | 
  • उस वेबसाइट का नाम आपने HindiTechie रखा | 
  • अब आपको अपनी वेबसाइट के लिए एक Domain Name खरीदना होगा जोकि ऑनलाइन बहुत सी कंपनी हमे यह सर्विस देती हैं | 
  • आपको Domain Name अपनी वेबसाइट के नाम से संबंधित ही रखना है | 
  • Domain Name रखने के लिए कुछ Postfix का यूज़ किया जाता है जैसे- .com , .net , .org , .in , .nic आदि | 
  • अब मान लीजिये आप वेबसाइट का नाम ही Domain Name रखना चाहते है तो आपको hinditechie लिखना होगा उसके बाद जो भी इंटरनेट पे Postfix उपलब्ध हैं उनमे से किसी एक को नाम के साथ जोड़ना होगा | जैसे हम यहां पर .com Postfix ले रहें है | 
  • अब आपका जो नाम जुड़कर बनेगा वह है hinditechie.com अब इसे ही हम कहते हैं Domain Name  | 
  • अब बात करते हैं URL की जब आप अपने Domain Name को अपनी वेबसाइट से जोड़ देते हैं तो Internet के कुछ Protocols होते है जिन्हे मानना पड़ता है | 
  • जैसे आपने अपनी वेबसाइट का नाम ही अपने डोमेन को नाम  दिया है तो जब भी आप ब्राउज़र में साइट खोलते है तो वहां पे आपके डोमेन नाम के आगे http:// या https:// लिखकर आने लगता है इसे आप Prefix भी कह सकते हैं | 
  • अब Browser के सर्च बॉक्स में आपको http://hinditechie.com के प्रकार की लाइन लिखी हुयी दिखेगी इसे ही हम कहते है URL | 

Domain Name कैसे कार्य करता है ?

क्या आपको पता है जो ये वेबसाइट है इन्हे कहां रखा जाता ? हम आपको बताते है इंटरनेट पर उपलब्ध लाखों की संख्या में ये वेबसाइट बहुत सारे अलग अलग सर्वर पर रखी जाती हैं | इन सर्वर के लिए आपको Hosting के रूप में कुछ जगह अपनी वेबसाइट के लिए लेनी पड़ती है जिसके आपको एक Limited Time के लिए पैसे देने होते हैं | 

ये Hosting Server आपकी वेबसाइट के लिए एक IP Address बना देते हैं जिससे आप अपने Domain Name को IP एड्रेस से कनेक्ट कर देते है जैसे ही इसे कनेक्ट करते है कंपनी के द्वारा किये गए सेटिंग्स के बाद यह Domain Name आपके वेबसाइट के Location को Point करने लगता है जिससे कोई जब भी आपके वेबसाइट के Domain URL पर जाता है यह वेबसाइट खुल के उसके सामने आ जाती है | 

Domain Name का कार्य आपकी Hosted Website का IP एड्रेस के द्वारा पता लगाना होता है जिसे URL के द्वारा Fetch कर लिया जाता है | 

Domain कितने प्रकार के होते हैं ? 

Domain के प्रकार के बारे में बात करे तो हम यह पूरे तरीके से नहीं कह सकते की कितने प्रकार के होते है लेकिन इनके खास Purpose को ध्यान में रखते हुए  इन्हे Categorize किया गया है चलिए जानते हैं इनके प्रकार 

Top Level Domain [ TLD ]

इन डोमेन का मुख्य उद्देश्य है पूरी दुनिया के लोगो तक अपनी साइट को उपलब्ध करवाना है 

Domain Purpose 
.com Commercial Sites के लिए
.eduEducational Sites के लिए 
.govGovernment Sites के लिए 
.orgOrganizational Sites के लिए 
.netNetwork Sites के लिए 
.bizBusiness Sites के लिए 
.infoInformational Sites के लिए 
.intInternational Institutions Sites के लिए 

Country Code Top Level Domain [ CcTLD ]

इस प्रकार के डोमेन एक Country के लोगों को Target कर के रखे जाते हैं 

Domain Targeted Country 
.in India की Sites के लिए 
.uk United Kingdom की Sites के लिए 
.auAustraliaकी Sites के लिए 
.usUnited States की Sites के लिए 
.aeArab Emirates की Sites के लिए 
.cnChina की Sites के लिए 
.thThailand की Sites के लिए 
.saSaudi Arabia की Sites के लिए 
.vnVietnam की Sites के लिए 
.sgSingapore की Sites के लिए 
.jp Japan की Sites के लिए 

Second Level Domain [ SLD ] या Lower Level Domain 

इस प्रकार के डोमेन Top Level के डोमेन के नीचे आते है इन्हे एक अलग प्रकार से लिखा जाता है | इनको किसी Company , किसी Product या Service based वेबसाइट को बनाने के लिए इन्हे रजिस्टर किया जाता है | जैसे-

example.co.in , example.co.uk , example.co.us

Search and buy domains from Namecheap

Domain का इतिहास ( सबसे पहला Domain )

डोमेन के इतिहास की बात करे तो सबसे पहले एक Comercial इंटरनेट डोमेन ‘com’ को 15 मार्च 1985 को sybolics.com Domain Name से Symbolics Inc. के द्वारा रजिस्टर किया गया था जोकि एक कंप्यूटर Firm है Cambridge, Massachusetts में | 

Domain मुख्य रूप से कहाँ रखे होते हैं ?

The Internet Corporation for Assigned Names and Numbers जिसे हम ICANN भी कहते है जोकि एक अमरीका की Multistakeholder Group और Nomprofit संस्था है। 

यह संस्था बहुत सारे Databases जो namsespace और numeriacalspace से जुड़े होते हैं उनको सही तरीके से कार्य करने के लिए बनाए रखता है। 

ICANN मुख्य रूप से सें Central Internet Address Pools और DNS Root Zone के Technical Maintenance के काम देखता है जोकि IANA के अनुसार होता है।

IANA का पूरा नाम the Internet Assigned Numbers Authority  है । यह पूरे विश्व के के IP Address ,  Autonomous System Number और डोमेन Root का management, Media और अन्य प्रकार के Internet Protocols से सम्बंधित Symbols और नम्बरों को सही तरीके से देखरेख करता हैं ।

सभी डोमेन इन्ही के अंतर्गत रखे जाते है और नए डोमेन रजिस्टर किये जाते है  जब भी आप डोमेन रजिस्टर करते है तो आपको एक Domain नाम Registrar Company से register करना होता है जिसे एक Generic Top Level Domain (gTLD) रजिस्ट्री या Country Code Top Level Domain (ccTLD)  रिजिस्ट्री की तरफ से मान्यता प्राप्त होती है ।

Domain Name की जरूरत हमे क्यों पड़ती है ?

जैसा कि आप जानते है इंटरनेट पे बहुत सारा डेटा पड़ा हुआ जो किसी न किसी सर्वर से पे रखा गया । उस Data को Access करने के लिए हमे उस सर्वर के Location का पता होना बहुत जरूरी है जिस भी सर्वर से data को हम पाना चाहते हैं । 

इन Data का एक Identification Resourse होता है जोकि नंबरों के रूप में होता है जिसे हम Generally , IP Address कहते हैं जैसे- 172.217.17.142 ; जिसका पूरा नाम Internet Protocols Address जोकि इंटरनेट के नियमो में से एक है । 

अब सामान्य तौर पर किसी की भी Identity को नंबरों के रूप याद रख पाना एक बहुत ही मुश्किल काम है और वो भी इंटरनेट की दुनिया मे जहां पर लाखों से भी ज्यादा Data पड़े हुए है ऐसे में नंबरों का सहारा लेना आसमान में तारों को पहचानने के जैसा काम है ।

शायद अबको समझ आ ही गया होगा कि आखिर डोमेन की जरूरत क्यों पड़ी । इन Domain Names को  Websites के IP Address के साथ जोड़ दिया जाता है जिससे हम आसानी से पहचान सकते है किसी और Data या सभी प्रकार के Resources को Access कर पाना आसान हो जाता है । 

आप किसी भी वेबसाइट पर उसके IP Address से भी पहुँच सकते हैं । इसमे कोई संदेह नही है । 

Subdomain Name क्या है ?

Subdomain एक Domain से ही जुड़ा हुआ नाम है | जैसे अपने एक Domain नाम hinditechie.com के आगे यदि हम Dot (.) लगा के कोई दूसरा शब्द जोड़ दे तो उसे हम Subdomain कहते हैं | 

hinditechie.com एक Subdomain है यह भी एक Domain की तरह ही कार्य करता है आप अपने एक Domain Name के साथ कई सारे Subdomain बना  सकते हैं और हर एक Subdomain के साथ आप वेबसाइट को लिंक कर सकते हैं | 

एक अच्छा Domain Name चुनने के नियम 

हम आपको यह पर यह जरूर बताना चाहेंगे की एक अच्छा डोमेन नाम कैसे चुने क्योंकि Domain Name से ही आपकी वेबसाइट को जाना जाता है अगर आप इसका चुनाव सही से नहीं कर पाए तो यह आपके Audiencs को याद रखने में कठिनाई होगी और कभी कभी तो लोग कुछ लोग ऐसे डोमेन नाम को चुन लेते है जिसपर तो Adsense Aprroval मिलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है | 

तो चलिए देखते है कुछ खास बिंदुओं को जिन्हे डोमेन नाम चुनने के समय याद रखने चाहिए :

  • सबसे पहले तो आपको यह याद रखना है की आपका Domain Name बहुत बड़ा न हो | बड़े नाम को लोग जल्दी भूल जाते हैं या तो उन्हें Confusion रहती है नाम को लेकर |  
  • आपका डोमेन नाम एक या दो शब्दों से बना हो तो अच्छी बात है यह याद रखने में भी आसान हो जाता है | आपने सभी बड़ी वेबसाइट के नाम को देखा होगा वह एक या दो शब्दों से मिलाकर ही बनायी गयी है जैसे google.com , myupchar.com , facebook.com , amazon.com आदि | 
  • यदि आपको अपने किसी ब्लॉग के डोमेन नाम को खरीदना है तो अपने ब्लॉग से संबंधित ही नाम रखे | जैसे आपका ब्लॉग Health के ऊपर है तो आप कुछ Health से जुड़ा हुआ नाम रखे| 
  • अपने Domain नाम में किसी भी प्रकार के Special Character या अंको का इस्तेमाल न करे क्योंकि यह Confusion पैदा करेगा आपके विजिटर के साथ और याद रखने में भी दिक्कत आएगी | 
  • कभी भी डोमेन नाम खरीदते समय हिंदी या किसी अन्य भाषा के शब्दों का प्रयोग न करे सिवाय English के | क्योकि Technology से Related सभी चीजे इंग्लिश भाषा में ही Develop की जाती है | 
  • यह जरूर याद रखे की नाम के पीछे लगने वाले Word प्रचलन में है या नहीं क्यूंकि जब आप कभी भी ऐसे Domain Name को चुन लेते हैं जिसको बहुत कम लोग जानते हैं तो वह एक प्रकार से Bad Impact डालते है | जैसे  .ml , .xyz , .tk आदि | 

Best Domain Name Provider Companies

आपको डोमेन नाम लेने से पहले यह जरूर पता कर लेना चाहिए की कौन सी कंपनी आपको बेस्ट सर्विस दे सकते है डोमेन नाम के लिए क्यूंकि बहुत सी कंपनी 24 घंटो की Support Service देती हैं वही कुछ का Support Service बहुत ही बेकार होता है | आपको कुछ बेहतरीन Domain Name सर्विस प्रोवाइडर की लिस्ट दे रहे है जहां से आप अपना Domain नाम चुन सकते हैं :

Domain Name रजिट्रेशन कैसे करे ?

अगर आप चाह रहे एक वेबसाइट बनाना और सोच रहे है Domain नाम खरीदना तो हम आपको कुछ बिंदुओं के माध्यम से बताएंगे की आप कैसे एक बेहतर कंपनी से Domain नाम खरीद सकते हैं | 

  • सबसे पहले आप अपने domain नाम को किसी एक वेबसाइट पर जाके चेक कर ले की वह Domain  Name  Availble है या नहीं | 
  • जब आपका चुना हुआ नाम मिल जाए तब आप उस Domain Name के Price को हर एक Domain सर्विस प्रोवाइडर की साइट पर जाके तुलना करे | 
  • कुछ साइट पहले साल के लिए बहुत ही कम Price में Domain दे देती है लेकिन आपको यह भी देखना है की Expiry Date के बाद जो रेगुलर प्लान होगा उनका कितने रूपये का होगा | 
  • अब आपको यह भी देखना है की कंपनी Domain Transfer की सुविधा दे रही है की नहीं | 
  • आप कंपनी के Domain Expiration Policies को जरूर पढ़े और दूसरी कपंनियों से तुलना करे | 
  • आप यह भी देखे की Domain के साथ आपको क्या Add-Ons मिल रहे हैं | 
  • कंपनी User Experience Rating भी देखे जिससे आपको यह अंदाजा हो जायेगा की कंपनी की सर्विसेज अच्छी हैं या नहीं | 
  • यह सब जान लेने के बाद आपको जिस कंपनी से भी better सर्विसेज मिलने की उम्मीद है आप उस साइट पर जाए | और वह अपना Domain Name सर्च करे | 
  • जैसे ही आप Domain सर्च करेंगे आपके सामने आपका डोमेन नाम आ जाएग अब कंपनी के दिए गए Instruction को Follow करे | 
  • यह पर आपको ऑनलाइन payments करना होता है जिसमें बहुत सी कंपनी UPI ID , BHEEM UPI , Paypal , Debit Card ,Credit  Card  से Payment करने का ऑप्शन देती हैं |  

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ )

क्या Domain Name Case Sensitive होतें हैं ?

नहीं यदि आप किसी भी वेबसाइट का डोमेन Uppercase में लिखते है या Lowercase में लिखते हैं वह दोनों ही स्थिति में खुल जाएगी |

क्या Domain Name Free होतें हैं ?

यह निर्भर करता है कि आप कहाँ से Domain खरीद रहें हैं क्योंकि बहुत से प्रोवाइडर Low Level Domain को Free में देते हैं कुछ समय के लिए और कुछ प्रोवाइडर सभी प्रकार के लिए पैसे लेते हैं | आपको हमेशा एक Top level ही Domain खरीदना चाहिए |

क्या डोमेन नाम ट्रेडमार्क होते हैं ?

बिल्कुल नहीं ! आप यह समझ सकते हैं कि  Domain Name Unique होते हैं एक की कोई दूसरा नही हो सकता है |

क्या Domain Name में नंबर हो सकते है ?

हां हो सकते हैं लेकिन आपको हमेशा बिना नंबर के ही डोमेन नाम को ही रजिस्टर करना चाहिए ताकि आसानी से याद रखा जा सके |

क्या डोमेन नाम Special Characters को रख सकता है ?

Domain Name में केवल आप “-” को यूज़ कर सकते है बाकी आप किसी भी Special Character का उपयोग नही कर सकते हैं | 

क्या डोमेन नाम को ट्रान्सफर किया जा सकता है ?

जी बिल्कुल ! आप अपने Domain किसी अन्य Registrar के लिए Transfer कर सकते हैं |

कौन से डोमेन नाम सबसे अच्छे होते हैं ?

Top Level Domain सबसे अच्छे माने जाते हैं जैसे .com , .net , .org आदि |

Domain Name क्यों जरुरी होता है ?

यह किसी भी Website को उसके सर्वर के IP Address को आसानी से एक नाम देने के लिए उपयोग में लाया जाता है | यदि किसी वेबसाइट को उसके IP Address से Access किया जाये तो वह वेबसाइट तक पहुंच तो जायेंगे लेकिन यह याद रखने के लिए बहुत ही कठिन काम है लेकिन एक Domain Name को आसानी से याद रखा जा सकता है |

 Domain Name कब Expire होता है ?

यह आप पर निर्भर करता है कि आप कितने दिनों के लिए Domain को खरीद रहें हैं | जहाँ से भी आप खरीदते वहां पर डोमेन की Validity दिखाई जाती आप अकाउंट में जाके देख सकते हैं |

मै यह आशा करता हूँ की Domain Name के बारे में बताई गयी सभी जानकारियां आपके समझ में आ गयी होंगी अगर आपको अब भी किसी प्रकार का Doubt है Domain नाम को लेकर तो आप हमे कमेंट करके जरूर पूछे हम आपकी पूरी सहायता करेंगे | 

Leave a Comment